Type Here to Get Search Results !

फसल राहत योजना पात्रता, लाभ एवं विशेषताएं fasal Rahat Yojana

Jharkhand Fasal Rahat Yojana Apply | झारखण्ड फसल राहत योजना ऑनलाइन आवेदन | Fasal Rahat Yojana Jharkhand Form: झारखंड राज्य में में इस बार बारिश कम होने के कारण खरीफ फसलों की बुवाई पर काफी असर पड़ा है इस बार बारिश नहीं होने के कारण खरीफ फसलों की खेती प्रभावित हुई है। खेती करने वाले किसान खरीफ फसलों की खेती करने के लिए पूरी तरह से बारिश पर ही निर्भर रहते हैं बारिश नहीं होने के कारण सबसे ज्यादा धान की बुवाई पर पड़ा है और अब तक राज्य में धान की रोपाई का निर्धारित लक्ष्य के मुकाबले मात्र 15 फीसदी क्षेत्र में ही धान की बुवाई हो पाई है तथा राज्य में खरीफ फसलों की खेती पर हुए असर एवं नुकसान को देखते हुए कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने फसल राहत योजना की शुरुआत की गई थी ताकि किसानों को आर्थिक नुकसान से बचाया जा सके और किसानों को हुएं नुकसान की कुछ आर्थिक मदद की जाए। और अगर आप भी एक किसान है और इस योजना से संबंधित जानकारियों के बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल पर बने रहे और इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ें इस आर्टिकल में Fasal Rahat Yojana के तहत लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन की प्रक्रिया आदि और भी इससे संबंधित जानकारियों के बारे कुछ पूरी जानकारियां दी गई है।

झारखंड फसल राहत योजना 2022 

fasal Rahat Yojana 2022

Fasal Rahat Yojana के तहत जिन भी किसानों का सूखा पड़ना आदि जैसी प्राकृतिक आपदाएं से खरीफ फसलों की खेती प्रभावित होती है यहां उन्हें इसके नुकसान होता है तो उन किसानों को झारखंड फसल राहत योजना 2022 के उन्हें प्रति एकड़ के तीन से पांच हजार रुपए दिए जाएंगे और वही फसल के 50 फीसदी से अधिक के नुकसान पर किसानो को प्रति एकड़ 4 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा. नुकसान का आकलन करने के बाद ही किसानों को मुआवजा प्रदान किया जाएगा। और प्रदेश के जितने भी किसान भाई इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए उन किसानों को योजना के लिए आवेदन करवाना होगा। झारखंड फसल राहत योजना के तहत अब खेती में नुकसान के बदले किसानों को मुआवजा प्रदान किया जाएगा। 

Fasal Rahat Yojana overview detail 

योजना का नामझारखंड फसल राहत योजना
लंचझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड के नागरिक
उद्देश्यफसल का नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना।
साल2022


Fasal Rahat Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज

  • इस योजना के तहत लाभ लेने के किसान झारखंड का स्थाई निवासी होना होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान का आईडी कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत का खाता नंबर/खसरा नंबर के पेपर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • फोन नंबर
  • आय प्रमाण पत्र 
  • आदि।

Fasal Rahat Yojana Jharkhand के लाभ तथा विशेषताएं

  • इस योजना को सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ किया है।
  • Fasal Rahat Yojana के तहत नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • झारखंड फसल राहत योजना के तहत लाभ उठाना के लिए किसानों को आवेदन करना होगा।
  • Jharkhand Fasal Rahat Yojana के माध्यम से प्राकृतिक आपदा के तहत नुकसान किसानों कि सहायता मिलेगी।
  • झारखंड फसल राहत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।
  • इस योजना को दिसंबर के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा।

फसल राहत योजना की प्रमुख शर्तें

  • केवल प्राकृतिक आपदा से नुकसान हुए फसल का क्षति आकलन करने के बाद ही किसानों को मुआवजा प्रदान किया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए प्रत्येक फसल मौसम ( खरीफ एवं रबी) में अलग-अलग निबंधन एवं आवेदन करना होगा।
  • प्राकृतिक आपदा से हुए फसल क्षति का आकलन एवं निर्धारण क्रॉप कटिंग एक्सपेरिमेंट द्वारा किया जाएगा।
  • 30 से 50 प्रतिशत तक फसल का नुक़सान होने पर किसानों को प्रति एकड़ 3000 रूपये की सहायता राशि दी जाएगी।
  • 50 प्रतिशत से अधिक फसल क्षति होने पर किसानों को प्रति एकड़ 4000 रूपये की सहायता राशि दी जाएगी।
  • और इस योजना के तहत केवल 5 एकड़ तक फसल नुकसान के लिए ही सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.